21 Oct 2018

संत कबीर के प्रसिद्द दोहे और उनके अर्थ

0 comments
             ऐसा कोई ना मिले, हमको दे उपदेस। 
भौ सागर में डूबता, कर गहि काढै केस।

भावार्थ: कबीर संसारी जनों के लिए दुखित होते हुए कहते हैं कि इन्हें कोई ऐसा पथप्रदर्शक न मिला जो उपदेश देता और संसार सागर में डूबते हुए इन प्राणियों को अपने हाथों से केश पकड़ कर निकाल लेता।