27 Nov 2018

विल्हेल्म एकलून्ड | हारवी कॉक्स | अरस्तू | डग लार्सन के विचार हिंदी में

0 comments

“जल्दबाज़ी में पढ़ना उतना ही गलत है जितना जल्दबाज़ी में खाना।”
~विल्हेल्म एकलून्ड
 

“हम जिस चीज़ की तलाश कहीं और कर रहे होते हैं वह हो सकता है कि हमारे पास ही हो।”
~हारवी कॉक्स
 

“हम वही हैं जो हम बारंबार करते हैं। इसलिए, उत्कृष्टता कोई एक बार का कर्म नहीं है, बल्कि एक आदत है।”
~अरस्तू
 

“अच्छा क्या है, इसे सीखने के लिए एक हजार दिन भी अपर्याप्त हैं; लेकिन बुरा क्या है, यह सीखने के लिए एक घंटा भी ज्यादा है।”
~चीनी कहावत
 

“अपने बच्चों को उनके किशोरवय के बच्चों को पालते हुए देखने से ज़्यादा संतोषप्रद बहुत कम चीज़ें होती हैं।”
~डग लार्सन