27 Nov 2018

संत फ़्रांसिस | महात्मा गांधी | हेनरी फोर्ड | शेख मोहम्मद बिन रशीद अल मक्तौम के विचार हिंदी में

0 comments

“शुरू में वह कीजिए जो आवश्यक है, फिर वह जो संभव है और अचानक आप पाएंगे कि आप तो वह कर रहे हैं जो असंभव की श्रेणी में आता है।”
~असीसी के संत फ़्रांसिस 
 

“आप जो सोचते हैं, आप जो कहते हैं, और आप जो करते हैं, इनमें तालमेल होना ही सुखी होना है।”
~महात्मा गांधी
 

“चाहे आप सोचें कि आप कर सकते हैं, या सोचें कि नहीं कर सकते, आप आम तौर पर सही होते हैं।”
~हेनरी फोर्ड
 

“सात बार गिरें, आठ बार उठ खड़े हों।”
~जापान की कहावत
 

“अधिकतर लोग बातें करते हैं, लेकिन हम काम करते हैं। वे इरादे बनाते हैं, और हम हासिल करते हैं। वे झिझकते हैं, हम आगे बढ़ते हैं। हम इस बात के जीते जागते सबूत हैं कि जब इंसानों में सपने साकार करने का हौंसला और वचनबद्धता हो तो उन्हें कोई नहीं रोक सकता। दुबई इसका जीवंत उदाहरण है।”
~शेख मोहम्मद बिन रशीद अल मक्तौम