24 Nov 2018

फ्रैंक सिनात्रा | अरस्तु | ले ब्राउन | फराह ग्रे | ज़िग ज़िग्लर के विचार हिंदी में

0 comments

“बेशुमार सफ़लता सर्वोत्तम प्रतिशोध है। ”
~फ्रैंक सिनात्रा
 

“आलोचना से बचने की एक ही राह है: कुछ न करें, कुछ न कहें, और कुछ न बनें।”
~अरस्तु
 

“हम में से कई लोग अपने सपनों को नहीं बल्कि अपने डर को जी रहे हैं।”
~ले ब्राउन
 

“अपने स्वयं के सपने साकार करें, नहीं तो कोई और अपने सपनों को साकार करने के लिए आपको काम पर रख लेगा। ”
~फराह ग्रे
 

“अगर आप किसी चीज़ का सपना देख सकते हैं तो उसे पा भी सकते हैं।”
~ज़िग ज़िग्लर