जो मेलोनि | अब्राहम लिंकन | मरिया मिचैल | स्वामी विवेकानंद | जॉन रे के विचार हिंदी में

Share:

“लोग यह नहीं याद करते कि आप कितनी बार गिरे, बल्कि यह याद रखते है कि आप कितनी बार उठ खड़े हुए। ”
~जो मेलोनि
 

“मुझे यह पसंद है कि व्यक्ति जिस जगह रहे वहां रहने का उसे अभिमान हो। मुझे यह पसंद है कि व्यक्ति ऐसे रहे कि उसके रहने की जगह को उसका अभिमान हो। ”
~अब्राहम लिंकन
 

“आनंद के समान कोई सौंदर्य प्रसाधन नहीं है। ”
~मरिया मिचैल
 

“परमात्मा में विश्वास तब तक नहीं हो सकता जब तक स्वयं में विश्वास न हो। ”
~स्वामी विवेकानंद
 

“सौंदर्य शक्ति है; और मुस्कान उसकी तलवार है। ”
~जॉन रे