20 Nov 2018

मदर टेरेसा | विलियम शेक्सपियर | बेंजामिन फ्रेंकलिन | सबाहट के विचार हिंदी में

0 comments

“मैं सफलता की प्रार्थना नहीं करती हूं, मैं विश्वास के लिए कहती हूं।”
~मदर टेरेसा
 

“मूर्ख व्यक्ति स्वयं को बुद्धिमान मानता है लेकिन बुद्धिमान व्यक्ति स्वयं को मूर्ख मानता है।”
~विलियम शेक्सपियर
 

“जीवन में दुखद बात यह है कि हम बड़े तो जल्दी हो जाते हैं, लेकिन समझदार देर से होते हैं।”
~बेंजामिन फ्रेंकलिन
 

“बुद्धिमान व्यक्तियों की सलाह की आवश्यकता नहीं होती है। मूर्ख लोग इसे स्वीकार नहीं करते हैं।”
~बेंजामिन फ्रेंकलिन
 

“एक बुद्धिमान व्यक्ति के कार्य उसके बारे में जानकारी प्रदान कर देते हैं।”
~सबाहट