24 Nov 2018

बेंजामिन फ्रैंकलिन | बिल गेट्स के विचार हिंदी में

0 comments

“परिश्रम किस्मत की जननी है।”
~बेंजामिन फ्रैंकलिन
 

“बीस साल की उम्र में इंसान अपनी मर्ज़ी से चलता है, तीस में बुद्धि से और चालीस में विवेक से।”
~बेंजामिन फ्रैंकलिन
 

“एक मकान तब तक घर नहीं बनता जब तक उसमें मस्तिष्क और शरीर दोनों के लिए भोजन और अग्नि न हो।”
~बेंजामिन फ्रैंकलिन
 

“यदि आप अच्छा बना नहीं सकते तो कम से कम अच्छा दिखाने का प्रयत्न तो करें।”
~बिल गेट्स
 

“जीवन न्यायोचित नहीं है, इसकी आदत डाल लीजिए।”
~बिल गेट्स