24 Nov 2018

अल्बर्ट आइंस्टीन | अब्राहम लिंकन | दलाई लामा के विचार हिंदी में

0 comments

“जो छोटे मसलों में सच को गंभीरता से नहीं लेता, उस पर बड़े मसलों में भी भरोसा नहीं किया जा सकता।”
~अल्बर्ट आइंस्टीन
 

“क्रोध मूर्खों के ही दामन में बसता है।”
~अल्बर्ट आइंस्टीन
 

“शत्रुओं को मित्र बना कर क्या मैं उन्हें नष्ट नहीं कर रहा?”
~अब्राहम लिंकन
 

“प्रसन्न रहना ही हमारे जीवन का उद्देश्य है।”
~दलाई लामा
 

“हम बाहरी दुनिया में तब तक शांति नहीं पा सकते हैं जब तक कि हम अन्दर से शांत न हों।”
~दलाई लामा