24 Nov 2018

विलियम जेम्स | जॉन कॉलिन्स | अरस्तु | ई. हब्बार्ड के विचार हिंदी में

0 comments

“जीवन का आनंद लें। यह कोई पूर्वाभ्यास नहीं है। ”
~अज्ञात
 

“जो व्यक्ति आदतन अनिर्णय से ग्रस्त रहता है, उस व्यक्ति से अधिक दयनीय कोई नहीं है।”
~विलियम जेम्स
 

“हमारे जीवन की आधी समस्याओं का कारण यह है कि जब हमें सोचना चाहिये तब हम भावशील रहते हैं और जब हमें भावशील होना चाहिये तब हम सोचते रहते हैं। ”
~जॉन कॉलिन्स
 

“नैतिकता के बारे में जानना ही पर्याप्त नहीं होता, इसे ग्रहण करना, अपनाना तथा स्वयं को अच्छा बनाने के लिये अन्य कोई भी कदम उठाना भी आवश्यक है। ”
~अरस्तु
 

“सुधारक वे हैं जो लोगों को उनकी आवश्यकताएं आंकने की शिक्षा दें।”
~ई. हब्बार्ड