24 Nov 2018

मेरिलीन ग्राइस्ट | ड्वाइट आइज़ेन्होवर | मैरी पार्कर फोल्लेट्ट | बुद्ध के विचार हिंदी में

0 comments

“आपके मन की लालसा आपके साहस जुटा पाने की प्रतीक्षा कर रही है।”
~मेरिलीन ग्राइस्ट
 

“जो आप करवाना चाहते हैं वह किसी और से उसकी इच्छा से करवाने की कला ही नेतृत्व है।”
~ड्वाइट आइज़ेन्होवर
 

“प्रबंधन अन्य लोगों के माध्यम से काम करवाने की कला है।”
~मैरी पार्कर फोल्लेट्ट
 

“हमारा कर्तव्य है कि हम अपने शरीर को स्वस्थ रखें। अन्यथा हम अपने मन को सक्षम और शुद्ध नहीं रख पाएंगे।”
~बुद्ध
 

“इतने मधुर न हों कि लोग आपको निगल लें, इतने कटु भी नहीं कि वे आपको उगल दें।”
~पश्तो की कहावत